Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

एमपी: CM ने 11 मिनट में 22 बार कांग्रेस को कोसा, फिर गाने लगे- कुर्सी रे, तेरे बिना भी क्या जीना

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार (13 नवंबर) को विंध्य के तीन जिलों में चुनावी सभा कर रहे थे। इस दौरान मऊगंज के खटखरी में उन्होंने भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में करीब साढ़े 11 मिनट का भाषण दिया। इस दौरान उन्होंने 22 बार कांग्रेस को कोसा और उस पर हमला बोला। सीएम ने कहा कि मऊगंज से हमेशा कांग्रेस हारती रही है। साल 2008 और 2013 के चुनावों में भी यहां से कांग्रेस की हार हो चुकी है क्योंकि वो कुर्सी की प्यारी है। सीएम ने कहा कि अहर फिर से यहां भाजपा उम्मीदवार की जीत हुई तो मऊगंज को विकास का मॉडल बना देंगे। सीएम ने गाना गाकर भी कांग्रेस पर हमला बोला। उन्होंने बीच सभा में गाया- “…ये कुर्सी रे, तेरे बिना भी क्या जीना…”

सीएम ने यह भी कहा कि उनकी सरकार कांग्रेस जैसी नहीं है। बतौर सीएम कांग्रेस राज में राज्य का खजाना खाली था लेकिन उनके शासनकाल में ऐसा नहीं है। शिवराज सिंह ने सिंगरौली के बगैया, गुढ़ के टिकरी और सीधी में भी जनसभा के दौरान कांग्रेस पर हमला बोला। इससे पहले शिवराज ने कांग्रेस पर हमला बोलेते हुए ट्वीट किया था कि उनके मित्र को कांग्रेस ने बलि का बकरा बना दिया। दरअसल, बुधनी से शिवराज सिंह चुनाव लड़ते हैं और कांग्रेस ने पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव को वहां से उम्मीदवार बनाया है। सीएम ने कहा कि उनके मित्र को कांग्रेस ने पहले प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाया, अब बलि का बकरा बना दिया। उसके जवाब में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा कि शिवराज सिंह बुधनी जरा संभलकर जाना। इधर, कांग्रेस भाजपा और खासकर सीएम शिवराज पर हमलावर रुख अपनाए हुए है। कांग्रेस व्यापमं एवं अन्य घोटालों के बहाने भाजपा पर निशाना साध रही है। कांग्रेस चुनाव प्रचार समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उज्जैन में सीएम पर हमला बोला और कहा कि शिवराज सिंह कहते हैं 15 साल बेमिसाल, पर यहां की जनता कह रही है 15 सालों में हम हो गए बेहाल। व्यापमं पर तंज कसते हुए सिंधिया ने कहा, “क्या रखा है किताब संसार में, आओ बिना पढ़े डॉक्टर बनो मध्य प्रदेश में।” बता दें कि राज्य में चुनाव होने में मात्र 14 दिन बचे हैं। ऐसे में दोनों दलों में एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर चरम पर है। राज्य में 230 विधान सभा सीटों के लिए 28 नवंबर को वोट डाले जाएंगे। 11 दिसंबर को नतीजे आएंगे।