शुक्रवार को लखनऊ में एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आए रेलमंत्री पीयूष गोयल को लोगो की नाराजगी का सामना करना पड़ गया. लोगों को संबोधित करने के लिए रेल मंत्री ने जैसे ही भाषण शुरु किया वहां कार्यक्रम में मौजूद लोगों ने मुर्दाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए. इसके बाद भी जब रेल मंत्री ने बोलना बंद नहीं किया तो गुस्साए रेलकर्मियों ने वहां लगे गमले फेंकने शुरू कर दिए.

जिससे उन्हें मामूली चोट आई और वह सिर सहलाते हुए देखे गए. इस गमले से उनके सुरक्षाकर्मी पंकज शुक्ल को भी चोट आई. मिली जानकारी के अनुसार लोगों को संबोधन के दौरान पीयूष गोयल ने कहा कि यूनियन लोगों को गुमराह कर रही है और यह युवाओं को गलत राह पर ले जा रही है.गोयल के इस बयान के बाद वहां हंगामा शुरू हो गया औऱ यूनियन के पदाधिकारियों ने नारेबाजी शुरू कर दी.

हालात गंभीर होते देख सुरक्षाकर्मियों ने मंत्री को वहां से बाहर निकालने के लिए कार तक पहुंचाया. लेकिन मुसीबत ने मंत्री का पीछा यहां भी नहीं छोड़ा. नाराज कर्मियों ने रेल मंत्री की कार का शीशा तक तोड़ दिया. बताया जा रहा है कि पीयूष गोयल ने रेलवे कर्मचारियों की मांगों को लेकर टिप्पणी की थी.

Leave comment