चारा घोटाले की सजा काट रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की तबीयत लगातार बिगड़ती जा रही है. रांची के रिम्स में भर्ती लालू यादव कि़डनी सही ढंग से काम नहीं कर रही है. उनका किडनी सीरम क्रिएटिनिन का 1.85 के स्तर तक जा पहुंचा है. इसके अलावा जीएफआर में भी बढ़ोतरी हो रही है. अगर उनकी हालत में सुधार नहीं हुआ तो माना जा रहा है कि लालू सीकेडी फोर स्टेज में जा सकते हैं. लालू यादव की हाल पूछने रिम्स में एनसीपी के नेता डीपी त्रिपाठी और मसौढी से विधायक रही रेखा देवी भी पहुंची.

लालू प्रसाद यादव से मिलने पहुंची मसौढ़ी से विधायक रेखा देवी ने लालू की स्वास्थ्य को लेकर चिंता जाहिर की. रेखा देवी ने बताया फिलहाल लालू की तबीयत ठीक नहीं है. लालू के पैर में जख्म हो गया है जिस वजह से लालू चलने में असमर्थ है. उनका शूगर लेवल भी बढ़ा हुआ है. रेखा देवी ने लालू प्रसाद यादव को बेहतर इलाज के लिए रांची से बाहर ले जाने की बात भी कही.

बेहतर विकल्प पर विचार

रिम्स में लालू यादव का इलाज कर रहे मेडिसिन विभाग के प्रो. डॉ उमेश प्रसाद ने बताया कि इन्फेक्शन रोकने के लिए दो एंटीबायोटिक दवाएं शुरू की गयी हैं. इंसुलिन के साथ साथ अन्य जरूरी दवाएं पहले से ही चल रही है. फिलहाल उन्हें ऑब्जर्वेशन में रखा गया है. एक दो दिन देखने के बाद भी यदि उनकी तबीयत नहीं सुधरी तो बेहतर विकल्प के लिए सोचा जाएगा. आपको बता दें कि गुरुवार की रात को लालू यादव का शुगर लेवल 190 पहुंच गया है. डॉ उमेश प्रसाद ने बताया कि टोटल काउंट का बढ़ना संकेत है कि शरीर में इन्फेक्शन का स्तर काफी बढ़ा हुआ है.

स्टेज फोर में जा सकता है किडनी

डॉ उमेश प्रसाद ने बताया कि उनका क्रिएटनिन लेवल बढ़कर 1.85 पहुंच चुका है. इसके कारण जीएफआर बढ़ा हुआ है. इससे किडनी का कार्य भी प्रभावित हुआ है. वह पहले से क्रोनिक किडनी डिजीज (सीकेडी) स्टेज थ्री की मरीज हैं. ऐसे में यदि जल्द उनकी सेहत नहीं सुधरती है तो स्टेज फोर में जाने में समय नहीं लगेगा.

Leave comment