Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

ऑस्ट्रेलिया नहीं बारिश से हारा भारत, ऐसे बिगड़ा टीम इंडिया का गणित

स्टार खिलाड़ी स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर के बिना खेल रही कमजोर ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ तीनों फॉर्मेट (टी-20, टेस्ट और वनडे) में सीरीज जीत का सपना लेकर आने वाली विराट ब्रिगेड की उम्मीदों को करारा झटका लगा है. ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर टीम इंडिया को जैसी शुरुआत की उम्मीद थी, उससे बिलकुल उल्टा हुआ.

पहले ब्रिस्बेन टी-20 में मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने रोमांचक मैच में विराट की सेना को 4 रन से मात दे दी. इसके बाद मेलबर्न टी-20 में भारत जीत के साथ अपनी सीरीज जीत को उम्मीदों को कायम रखने के लिए आगे बढ़ ही रहा था, कि बारिश ने सब पर पानी फेर दिया. बारिश के कारण भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टी20 मैच बेनतीजा रहा. अच्छी गेंदबाजी के बावजूद भारत के हाथ से तीन मैचों की टी-20 सीरीज में वापसी का सुनहरा मौका निकल गया.

इसके साथ ही भारत की लगातार 7 टी-20 सीरीज जीतने के बाद यह दौड़ यहीं खत्म हो गई. क्योंकि तीन मैचों की इस सीरीज को भारत अब बराबर ही कर सकता है, जीत नहीं सकता. सीरीज का आखिरी मैच 25 नवंबर को सिडनी में खेला जाएगा.

रविवार को सिडनी का मौसम भी कुछ अच्छा नहीं रहने वाला है. मौसम पूर्वानुमान के मुताबिक वहां आंशिक बादल छाए रहेंगे. बारिश की संभावना भी जताई गई है.

इससे पहले ब्रिस्बेन में खेले गए पहले टी-20 मैच में भी बारिश टीम इंडिया के लिए विलेन साबित हुई. ब्रिस्बेन में मैच शुरू होने के बाद 16.1 ओवर में बारिश आई जिसके कुछ देर बाद मुकाबला दोबारा शुरू किया गया, लेकिन अंपायरों ने इसे 20 ओवरों की जगह 17 ओवरों का कर दिया था. जिसमें ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 17 ओवर में 4 विकेट गंवा कर 158 रन बनाए.

डकवर्थ लुईस नियम के तहत भारत को जीत के लिए 17 ओवर में 174 रनों का रिवाइज्ड टारगेट मिला. गाबा के मैदान पर भारत के सामने 174 रनों का लक्ष्य मुश्किल साबित हुआ और टीम इंडिया टारगेट का पीछा करते हुए 17 ओवर में 7 विकेट गंवा कर 169 रन ही बना पाई, लेकिन 4 रन से मैच गंवा दिया. इस तरह ऑस्ट्रेलिया को डकवर्थ लुईस नियम का फायदा मिल गया.

मेलबर्न में टीम इंडिया के अपनी शानदार गेंदबाजी से ऑस्ट्रेलिया को लगभग पस्त कर दिया था. इस मैच में पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 19 ओवर में 7 विकेट गंवा कर 132 रन बनाए. बारिश के कारण दोबारा ऑस्ट्रेलियाई पारी शुरू नहीं हो पाई.

भारत को डकवर्थ लुइस नियम के आधार पर 19 ओवर में 137 रनों का टारगेट मिला. मैच दोबारा शुरू होने वाला था, उससे पहले ही बारिश ने एक बार फिर मजा खराब कर दिया.

फिर भारत को डकवर्थ लुईस नियम के तहत जीत के लिए 11 ओवरों में 90 रनों का संशोधित लक्ष्य मिला. इस समय लग रहा था कि भारतीय टीम अब यह मैच जीतकर सीरीज में 1-1 की बराबरी कर लेगी. लेकिन, इंद्र देवता ने भारतीय टीम की उम्मीदों पर पानी फेर दिया. नियमित अंतराल पर हो रही बारिश के बीच आखिरकार मैच को रद्द ही करना पड़ा.