Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

धमतरी में तहसीलदार के स्ट्रांग रुम में तीन घंटे रहने पर उठे सवालिया निशान…ईवीएम से छेड़खानी के आरोप

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग पूरी हो गई है। अब ईवीएम की सुरक्षा को लेकर सवाल उठ रहे हैं। धमतरी में तहसीलदार ने स्ट्रांग रूम का सील तोड़कर कमरे के अंदर प्रवेश किया और 3 घंटे तक अंदर रहे हैं जिस पर सवालिया निशान खड़े हो गए हैं। मामले की जानकारी मिलते ही कांग्रेसी मौके पर पहुंचे। और जमकर हंगामा करने लगे। साथ ही तहसीलदार पर ईवीएम मशीन से छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया है।कांग्रेस प्रत्याशी गुरुमुख सिंह होरा, निर्दलीय प्रत्याशी आंनद पवार और जोगी कांग्रेस के प्रत्याशी दिग्ग्विजय सिंह ने तहसीलदार के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इस मामले पर अभी कोई अधिकारिक बयान सामने नहीं आया है तहसीलदार की इस हरकत से सभी नेता गुस्से में दिखे।

तो वहीं रायपुर में सुरक्षा अधिकारी डी. मालाकर का कहना है कि ईवीएम  की सुरक्षा के लिए तीन लेयर बनाए गए हैं।  200 सुरक्षाकर्मी 24 घंटे पहरा दे रहे हैं। ज्ञात हो कि यह सुरक्षाकर्मी एलएमजी, एके47 के साथ अन्य आधुनिक हथियारों से लैस  है। पहले लेयर में जो सुरक्षाकर्मी हैं वो स्ट्रांग रुम से 100 मीटर की दूरी से पहरा दे रहे हैं। दूसरे लेयर में दरवाजे और भवन की सुरक्षा के जवान तैनात किए गए हैं। पहले से दूसरे लेयर के बीच में अधिकृत अधिकारी और राजनीतिक दलों के लोग ईवीएम  मशीन की स्थिति देखने के लिए लगाए गए  प्रोजेक्टर तक जा सकते हैं। जबकि तीसरे और अंतिम सुरक्षा घेरे के अंदर जाने की इज़ाजत किसी की नहीं है। सुरक्षा अधिकारी डी. मालाकर ने बताया कि अंतिम लेयर के भीतर कोई नहीं जा सकता। अगर अंदर घुसने की कोशिश करता है तो उसे गोली मारने के आदेश हैं। बता दें कि रायपुर जिले की ईवीएम मशीन  सेजबहार स्थित इंजिनियरिंग कॉलेज में रखी गई हैं। जिनकी गणना 11 दिसंबर को होनी है।