Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Editorial :- करतारपुर गलियारे में पिच क्या इमरान खान के उत्तराधिकारी राहुल गांधी पाक पीएम और सिद्धू रक्षामंत्री?

29 November 2018

आज पाकिस्तान के पीएम इमरान खान और राहुल गांधी द्वारा भेजे गए कांग्रेस के दूत नवजोत सिंह सिद्धू ने एक दूसरे की प्रशंसा में जो कसीदे गढ़़े उससे मुझे स्मरण हो रहा है १९६० में जब पंडित नेहरू चाऊ एन लाई से गले मिले थे। उस समय मैं दिल्ली सेबढ़़ते चलेंÓ स्टूडेंट हिन्दी साप्ताहिक प्रकाशित कर रहा था। वह फोटो हिन्दुस्तान दैनिक में प्रकाशित हुई थी। उस आलिंगन वाली फोटो को मैंने अपने साप्ताहिक में प्रकाशित किया था। उस घटना के उपरांत १९६२ में किस प्रकार से नेहरू सरकार के रक्षामंत्री कृष्ण मेनन ने चीन के लिये खूनी क्रिकेट खेला था यह आप सबको विदित है। लगता है अब जिस प्रकार से करतारपुर कॉरिडेर के गलियारे में पाकिस्तान के वर्तमान पीएम इमरान खान ने षडयंत्रकारी पिच तैय्यार की है या यूं कहिए जिस प्रकार से कौरवों ने पांडवों के लिये लाक्षागृह तैय्यार किया था वैसे ही भारत के लिये पाकिस्तान की सेना के कठपुतली प्रधानमंत्री इमरान खान ने तैय्यार की है।

सिद्धूृ बोलेहिन्दुस्तान जीवेपाकिस्तान जीवेमेरा यार इमरान जीवे। इमरान खान बोलेसिद्धू यहॉ पाकिस्तान में काफी लोकप्रिय पाकिस्तान में कहीं से भी चुनाव लड़ें तो जीत जाएंगे। इमरान खान ने सिद्धू को दिया पाकिस्तान से चुनाव लडऩे का न्यौता। इस प्रस्ताव से ऐसा प्रतीत होता है कि निकट भविष्य में वे राहुल गांधी को भी इसी प्रकार का प्रस्ताव यह कहकर भेज सकते हैं कि संभव है भविष्य में उनके उत्तराधिकारी राहुल गांधी बनें अर्थात पाकिस्तान के पीएम बनने के लिये यहॉ चुनाव लडें। भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा था कि बहुसंख्यक आम भारतीय चाहते हैं किनरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री बने रहें लेकिन पाकिस्तान चाहता हैकि राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनें।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान सहित पाकिस्तानी नेताओं की विभिन्न टिप्पणियों और ट्विटों का भी उल्लेख किया गया था। संबित पात्रा ने कहा, ‘कांग्रेस और पाकिस्तान के बीच समानता के इस धागे को इसे केवल क्या संयोग कहा जा सकता है? या यह सहघटनाओं से ज्यादा हैउन्होंने कहा, ‘कांग्रेस नेताओं ने भारत में स्थिति पर टिप्पणी की है, और पाकिस्तान के तरीके उन्हें समर्थन दिया, मैं कहूंगा कि यह एक डिजाइन का हिस्सा है और सहघटना नहीं है Ó इस संदर्भ में, उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष श्री गांधी ने भारतीय सेना द्वारा राजनीतिक बहस मेंसर्जिकल स्ट्राइकÓ का इस्तेमाल किया था और इसके बारे में मजाक किया था।

 पाकिस्तान ने राहुल गंांधी की कांंग्रेस की टिप्पणी का उपयोग किया है। पाकिस्तान के नेताओं जैसे मौजूदा सूचना मंत्री फवाद हुसैन और पूर्व गृह मंत्री रहमान मलिक ने इनका इस्तेमाल किया है। रहमान मलिक का कहना है कि राहुल गांधी आपका (भारत) अगला प्रधान मंत्री हैं क्योंकि वह समझ में आता है।Ó उन्होंने कहा कि श्री मलिक ने यह भी ट्वीट किया कि प्रधान मंत्री मोदी राहुल गांधी सेडरे हुएÓ हैं। Ó ‘यह निश्चित है कि कुछ लोग चाहते हैं कि राहुल गांधी को भारत में एक बड़े नेता के रूप में उभारा जाना चाहिए। ये लोग कौन हैं? यह विचार प्रक्रिया क्या हैराहुल गांधी कहते हैं मोदी हटाओ। उसके पहले सोनिया गांधी के निर्देश पर मणिशंकर अय्यर पाकिस्तान जाकर मोदी सरकार को हटाने के लिये आईएसआई से सहायता मांग चुके हैं? पाकिस्तान भी कहता है मोदी हटाओ राहुल गांधी लाओ।

आज जो पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर के संदर्भ में सिद्धू की उपस्थिति में जो घटनाक्रम हुए हैं उससे प्रतीत होता है कि पाक के करतारपुर इवेंट में खालिस्तानी एंगल है। इमरान खान और सिद्धू दोनोंं ही एक प्रसिद्ध क्रिकेट खिलाड़ी रहे हैं। दोनों ने ही मिलकर षडयंत्रकारी पिच करतारपुर कॉरिडोर के बहाने तैय्यार किया है। जिस प्रकार से जिन्ना और पंडित नेहरू सत्तालोलुप थे। सत्ता हथियाने के लिये अपनेअपने देशों के राष्ट्र प्रमुख बनने के लिये भारत के बटवारे को १९४७ में स्वीकार किया।

उसी प्रकार से लगता है कि राहुल गांधी भी येनकेनप्रकारेण प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं, जिस प्रकार से नेहरू भारत के प्रधानमंत्री बने थे। सिद्धू भी कामरेड कृष्ण मेनन जैसे ही रक्षामंत्री बनने के इच्छुक हैं। क्या खालिस्तानी एंगल को और १९४७ से जो पाक प्रायोजित आतंकवाद को सहारा बनाकर वे अपने मनसूबों को सफल करना चाहते हैं? भारत की १३० करोड़ जनता को भारत के पीएम मोदी के इस मंत्र पर विश्वास है कि सबका साथ सबका विकास और भारत की एकता को कोई भी ताकत चोट नहीं पहुचा सकेगी।