30 November 2018

कांग्रेसपाकिस्तान मिलकर मोदी को हटाएंगेकेन्द्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने आज दावा किया है कि कांग्रेस ने सिद्धू को बाजवा के गले मिलने भेजा था। स्पष्ट है सिद्धू कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के दूत बनकर पाकिस्तान गये थे।

इसके पूर्व सोनिया गंाधी के निर्देश पर मणिशंकर अय्यर भी पाकिस्तान जा चुके हैं।

सोनिया गांधी और राहुल गांधी के इशारे पर मोदी सरकार को हटाने के लिये वे पाकिस्तान की मदद  लेने पहुंचे थे।

दूसरी बात यह भी स्पष्ट है कि पाकिस्तान और कांगे्रस दोनों मिलकर मोदी सरकार को हटाने के लिये कसम खाए हुए हैं।

यहॉ यह उल्लेखनीय है कि ओवैसी ने भी एक समय कहा था कि हिन्दुस्तान के मुसलमान और पाकिस्तान के मुसलमान मिलकर हिन्दुओं का सामना कर सकते हैं।

मणिशंकर अय्यर के घर पर गुजरात विधानसभा चुनाव के समय भोज का आयोजन हुआ था उसमें इसी षडयंत्र की रूप रेखा तैय्यार  करने के लिये मनमोहन सिंह और हामिद अंसारी    शामिल हुए थे पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री कसूरी और पाकिस्तान के भारत स्थित राजदूत के साथ।

कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद ने कहा था कि  भारत की सेना का कश्मीर में जो आतंकवादियों के विरूद्ध अभियान चलाया जा रहा है उसमें आतंकवादी कम और आम कश्मीरी ज्यादा मारे जा रहे हैं। कांग्रेेस के ही दूसरे नेता सैफुद्दीन सोज ने भी मुशर्रफ के दिये गये बयान का समर्थन करते हुए कहा था कि कश्मीर के लोग आजादी चाहते हैं।

इसी बात को अमलीजामा पहनाने के लिये सिद्धू को राहुल गांधी ने कुछ दिनों पूर्व पाकिस्तान भेजा था। वहॉ पर वे पाकिस्तान के आर्मी चीफ बाजवा से गले मिले थे।

इन दोनों के उक्त वक्तव्य को हाथों हाथ लेते हुए २६/११ के अपराधी हाफिज सईद ने कहा था कि कांग्रेस अच्छी पार्टी है उनके नेता भी भले हैं।  

अब २८ नवंबर के वाकया की चर्चा करें तो हम कह सकते हैं कि जब भारत के खिलाफ उगला जा रहा था जहर तब सिद्धू बजा रहे थे ताली। इतना ही नहीं इस दौरान खालिस्तानी आतंकवादी विशेषकर गोपाल चावला भी वहॉ मौजुद थे।

करतारपुर साहिब कॉरिडोर के निर्माण के लिए पाकिस्तान में हुए कार्यक्रम में दो तस्वीरों पर हंगामा मच गया है. एक तस्वीर में पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा से खालिस्तानी आंदोलन से ताल्लुक रखने वालागोपाल चावलाÓ हाथ मिला रहा है और दूसरी तस्वीर मेंगोपाल चावलाÓ कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू के साथ दिखाई दे रहा है.

क्या कांग्रेस पार्टी अपने फायदे के लिए पंजाब में फिर से आतंकवाद को फैलाना चाहती है? क्या राहुल गांधी पाकिस्तान की मदद से भारत में अस्थिरता फैलाकर प्रधानमंत्री मोदी को कमजोर करने की साजिश रच रहे हैं। यह सवाल इसलिए उठ रहे हैं, क्योंकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खासमखास और पंजाब की कांग्रेस सरकार में कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की ऐसी तस्वीर सामने आई है, जिसमें वह पाकिस्तान में भारत विरोधी और खालिस्तान समर्थक आतंकवादी गोपाल चावला के साथ गलबहियां करते हुए दिखाई दे रहे हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या सिद्धू करतारपुर साहिब गलियारे की आधारशिला रखने के समारोह की आड़ में राहुल गांधी के किसी सीक्रेट मिशन को अंजाम देने के लिए पाकिस्तान गए थे? आपको बता दें कि गोपाल चावला बेहद ही खतरनाक और भारत विरोधी मानसिकता का शख्स है। गोपाल चावला पाकिस्तान के इशारे पर पंजाब में आतंकवाद फैलाने की साजिश रच रहा है। ऐसे शख्स के सिद्धू की मुलाकात कई सवाल खड़े करती है।

बाजवा से आलिंगन और इमरान की प्रशंसा के बाद, नवजोत सिद्धूृ  २६/११ के मास्टर माइंड हाफिज सईद के सहयोगी खालिस्तानी आतंकी गोपाल चावला से मिलते हैं इसे देश के साथ गद्दारी नहीं तो क्या कहा जाये?

नवजोत सिंह सिद्धू को खालिस्तान के नेता गोपाल सिंह चावला के साथ फोटो खिंचवाया गया है।

पाकिस्तानी आतंकवादी और लश्करतैयबा हाफिज सईद के संस्थापक गोपाल सिंह चावला ने सोशल मीडिया पर सिद्धू के साथ तस्वीर साझा की

बुधवार को, करतरपुर कॉरिडोर समारोह के दौरान सिद्धू और पाक प्रधान मंत्री इमरान खान ने एक दूसरे की प्रशंसा की थी

Leave comment