3 December 2018

क्या कोलंबियन स्पेनिश गर्ल को ठुकराकर अब राहुल गांधी का च्वाईस किसी पाकी गर्ल से है ? जैसे शशि थरूर की मेहर तरार और अमरिंदर सिंह की अरूषा आलम

क्या इमरान खान और बाजवा के इशारे पर २६/११ के अपराधी हाफिज सईद के हनी टै्रप में राहुल गांधी फंस गए हैं?

क्या इसी कारण राहुल गांधी ने इमरान खान की हां में हां मिलाते हुए एलाने जंग किया है:  कांग्रेस पाकिस्तान मिलकर हटाएंगे मोदी सरकार?

०२ दिसंबर का समाचार है : आतंक का नया हथियार, सोशल मीडिया से हनी ट्रैप।

करीब 2 हफ्ते पहले 17 नवंबर को सईद शाजिया नाम की एक महिला को बांदीपोरा से गिरफ्तार किया गया। महिला की उम्र 30-32 वर्ष है। वह सोशल मीडिया पर युवाओं को अपने जाल में फंसाती थी और मुलाकात का लालच देकर उनसे हथियारों और गोला-बारूद को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचवाती थी।

कश्मीर घाटी में आतंकी संगठन युवाओं को लुभाने के लिए हनी ट्रैप का कर रहे हैं इस्तेमाल

>> सोशल मीडिया पर खूबसूरत महिलाएं युवाओं को मुलाकात का लालच देकर उनसे हथियारों की करा रहीं हैं तस्करी

>> हनी ट्रैप में फंसे युवाओं का घुसपैठ करने वाले आतंकियों के लिए गाइड के तौर पर भी हो रहा इस्तेमाल

>> 17 नवंबर को सईद शाजिया नाम की महिला की हुई थी गिरफ्तारी, घाटी में ऐसी कई अन्य महिलाएं भी हैं सक्रिय।

पंजाब के सीएम कैप्टन VS कांग्रेस के कैप्टन राहुल गांधी

कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब के मुख्यमंत्री हैं। उन्हीं के मंत्री मंडल में नवजोत सिंह सिद्धू भी मंत्री हैं। अपने मुख्यमंत्री का मजाक उड़ाते हुए उपहास करते हुए मीडिया में सिद्धू मुखर होकर बोले थे कि कौन कैप्टन वे कैप्टन सेना के होंगे सिद्धू के नहीं। सिद्धू के तो कैप्टन सिर्फ राहुल गांधी ही हैं।

आज सिद्धू के सुर में सुर मिलाते हुए नवजौत कौर सिद्धू ने यह भी कहा कि उनके पति कांग्रेस की नई पीढ़ी के नेताओं से वास्ता रखते हैं, जो सिर्फ और सिर्फ राहुल गांधी का कहा मानते हैं।

केन्द्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने स्पष्टीकरण की मांग की है कि राहुल गांधी को नवजोत सिंह सिद्धू के आचरण के बारे में जवाब देने की जरूरत है।

>> स्मृति ईरानी ने मांग की है कि कांग्रेस राहुल गांधी अपने पार्टी के सदस्य नवजोत सिंह सिद्धू के कार्यों का जवाब करतरपुर कॉरिडोर कार्यक्रम के लिए पाकिस्तान की यात्रा के दौरान और उनके बयान उनके राज्य के मुख्यमंत्री का अपमान करते हैं।

>> विदेश मंत्रालय सुषमा स्वराज ने यह भी कहा कि चल रहे विवाद कांग्रेस में ‘तीन कप्तानोंÓ के बीच है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पाकिस्तान के साथ मिलकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी सरकार के खिलाफ खतरनाक साजिश रच रहे हैं।

राहुल गांधी के खासमखास नवजोत सिंह सिद्धू ने इसका खुलासा किया है। सिद्धू ने कहा है कि वह राहुल गांधी के कहने पर ही पाकिस्तान गए थे और वहां पाक पीएम इमरान खान से मिले थे।

पाकिस्तान के इमरान खान और राहुल गांधी का एक प्रकार से एलाने जंग ही है : कांग्रेस-पाकिस्तान मिलकर मोदी को हटाएंगे।

जाहिर है कि प्रधानमंत्री मोदी की घेराबंदी से पाकिस्तान बौखला गया है और इधर भारत में कांग्रेस पार्टी भी मोदी सरकार को किसी भी कीमत पर हटाना चाहती है। इसलिए कांग्रेस और पाकिस्तान ने हाथ मिला लिया है।

यहॉ यह उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व कांगे्रस हाईकमांड के निर्देश पर ही मणिशंकर अय्यर भी पाकिस्तान जाकर आईएसआई तक से सहायता मंगी थी मोदी सरकार को हटाने के लिये?

इसी संदर्भ में एक और वाकया का स्मरण कराना भी उचित रहेगा। गुजरात विधानसभा चुनाव के समय मणिश्ंाकर अय्यर के घर ही एक गुप्त बैठक एक षडयंत्र को अमलीजामा पहनाने के लिये हुई थी, उसमें कांग्रेस हाईकमांड के ही निर्देश पर मनमोहन सिंह और हामिंद असंारी तथा दसजनपथ की अंध भक्त अन्य कुछ हस्तियां भी सम्मिलित थी, पाकिस्तान के पूर्व विदेशमंत्री कसूरी और पाकिस्तान के राजदूत से गुफ्तगू करने के लिये।

खालिस्तानी आतंकी गोपाल चावला ने अपनी फोटो सिद्धू के साथ खिचवाकर सोशल मीडिया में वायरल की। परंतु आलोचना होने पर सिद्धूू बोले, मैं नहीं जानता चावला को।

इसी प्रकार से कल उन्होंने हैदराबाद में कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें पाकिस्तान भेजा था। इतना ही नहीं आगे सिद्धूू ने यह भी था कि पाकिस्तान की देशविरोधी तीर्थ यात्रा से लौटने के उपरांत उन्हें शशि थरूर, सूरजेवाला व हरीश रावत जैसे कांग्रेसी नेताओं ने  उनकी पीठ थपथपाकर उत्साह बढ़ाया।

पर आज ये ही नवजोत सिद्धू कह रहे हैं कि उन्हें पाकिस्तान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने नहीं भेजा।

सोशल मीडिया में अब नवजोत सिद्धू की ख्याति हुई है : दलबदलू के बाद देशविरोधी अब पल्टू बने सिधु-बुद्धू ।

मीडिया को भी अब पलटू नेताओं को महिमा मंडित करना बंद कर देना चाहिये। यदि एक बार मीडिया के समक्ष कोई नेता वक्तव्य देता है तो उसे तो प्रकाश में लाया जाना चाहिये। परंतु बाद में यदि वह सफेद झूठ बोलते हुए उसे नकारता है तो उसकी चर्चा मीडिया में न हो तो अच्छा होगा।

राहुल गांधी पाकिस्तानी हनी ट्रैप में संभव है फंस गए हों। यह संभावना हमने इसलिये व्यक्त की है कि इसके पूर्व उनकी पार्टी के शीर्ष नेता शशि थरूर और वर्तमान में पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह भी हनी ट्रैप में पहले फंस चुके हैं।

Leave comment