तेलंगाना में सात दिसंबर को होने वाले विधान सभा चुनावों में 4.93 लाख फर्जी मतदाताओं की पहचान की गयी है और उनके नाम मतदाता सूची से हटा दिये गये हैं. राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी रजत कुमार ने सोमवार को यहां सोमाजीगुडा प्रेस क्ल्ब में ‘मीट द प्रेस में संवाददाताओं को बताया कि विधान सभा का चुनाव कराना एक चुनौतरपूर्ण काम है क्योंकि इसमें विभिन्न कारक शामिल होते हैं. उन्होंने मतदाताओं से अपने मताधिकार के इस्तेमाल की अपील करते हुए कहा कि आयोग ने स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए व्यापक इंतजाम किए हैं.

कुमार ने कहा, हमने मतदाता सूची से दो लाख से अधिक वैसे मतदाताओं के नाम हटाये जिनके नाम दोबारा दर्ज किये गये थे जबकि करीब तीन लाख वैसे मतदाताओं के नाम शामिल थे जिनका निधन हो चुका है. उन्होंने कहा कि ऐसे कम से कम 4.93 लाख फर्जी और नकली लोगों के नामों को मतदाता सूची से हटा दिया गया है. उन्होंने कहा कि फर्जी मतदाताओं पर कार्रवाई करने के अलावा उच्च तकनीक की मदद से मतदाताओं में जागरुकता पैदा करने समेत चुनाव प्रक्रिया में भी क्रांतिकारी बदलाव किये गये हैं.

उन्होंने कहा कि आयोग ने महज एक माह के भीतर ना केवल सारे इंतजाम किये बल्कि राज्य में पहली बार इस्तेमाल हो रहे बीवीपैट मशीनों समेत सभी आवश्यक चीजों की भी व्यवस्था की. कुमार ने कहा कि आयोग ने आपराधिक पृष्ठभूमि वाले नेताओं की जानकारी एकत्र की है और इसपर कार्रवाई भी की जाएगी. उन्होंने कहा कि फिलहाल हमारा ध्यान राजनीतिक पार्टियों की ओर से जारी घोषणापत्र और चुनाव प्रचार के दौरान नेताओं की ओर से किये गये वादों पर है. चुनाव प्रचार पांच दिसंबर की शाम को समाप्त हो जाएगा. अभीतक हमारे पास 15 राजनीतिक पार्टियों का घोषणापत्र है.

कोडांगल विधान सभा क्षेत्र की मौजूदा स्थिति के बारे में पूछे जाने पर श्री कुमार ने कहा कि हम इस क्षेत्र को ‘राजनीतिक रुप से अत्यधिक संवेदनशील मानकर चल रहे हैं तथा तेलंगाना राष्ट्र समित (टीआरएस) प्रमुख और कार्यवाहक मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की मंगलवार को कोसगी में प्रस्तावित चुनावी सभा को बाधित करने की चेतावनी देने के कारण स्थानीय कांग्रेस उम्मीदवार रेवनाथ रेड्डी को नोटिस भी जारी किया गया है. रेड्डी ने मंगलवार को इलाके में बंद का आह्वान किया है. कोडांगल निर्वाचन क्षेत्र के पीठासीन अधिकारी के अरुणा कुमारी ने रेड्डी को उनकी ओर से चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का हवाला देते हुए एक नोटिस भेजा है.

रेड्डी पर निर्वाचन क्षेत्र में कानून और व्यवस्था की समस्या पैदा करने का प्रयास करने का भी आरोप है. कुमार ने कहा कि हमने पहले ही पुलिस महानिदेशक एम महेन्द्र रेड्डी को निर्देश दिया है कि वह चार दिसंबर को कोडांगल में कोसगी में आयोजित होने वाले केसीआर की राजनीतिक सभा सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठायें. उन्होंने बताया कि कोडांगल में टीआरएस के उम्मीदवार पी नरेन्द्र रेड्डी के रिश्तेदार के स्वामित्व वाले फार्म हाउस में आयकर अधिकारियों की ओर से की गयी छापेमारी में 51 लाख रुपये नकद जब्त किया गया है.

Leave comment