फोर्स के मुस्तैदी से माओवादी अपने मंसूबों पर कामयाब नहीं हो पा रहे हैं। वहीं माओवादियों को ग्रामीणों का सहयोग भी नहीं मिल रहा है।ग्रामीणों में दहशत फैलाने के लिए वे अब निर्दोष ग्रामीणों को अपना निशान बना रहे हैं। ताकि लोगों में उनका खौफ बना रहे। आपको बता दे कि नक्सली इन दिनों पीएलजीए सप्ताह मना रहे है। इस दौरान उन्होंने चंदनबाहरा के पास पर्चा फ़ेक बैनर पोस्टर लगाया है। 2 दिसंबर से नक्सलियों का पीएलजी सप्ताह शुरू हुआ है। इसके दूसरे ही दिन उन्होंने बड़ी मात्रा में पर्चा फ़ेक अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है। नक्सलियों द्वारा फेंके गए पर्चे में चन्दनबाहरा-मादागिरि मुठभेड़ में मारे गए एलओएस कमांडर नक्सली जयसिंग को श्रद्धांजलि दी गई है। बैनर में ग्रीन हंट ऑपरेशन प्रहार का भी जिक्र उन्होंने किया। बैनर लगाये जाने की बात पुलिस को लगते ही इलाके में सर्चिंग और तेज कर दी गई है।पीएलजीए सप्ताह के दौरान माओवादी गांवों में बैठकें करते हैं और पुलिस मुठभेड़ों में मारे गए नक्सलियों को श्रद्धांजलि देते हैं।

Leave comment