Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

वसुंधरा राजे ने कहा- धर्म या नफरत नहीं, आम अपराध ही है लिंचिंग

राजस्थान में सात दिसंबर को वोट डाले जाने हैं जिससे ये फैसला होगा कि वसुंधरा राजे अपनी बीजेपी की सरकार बचा पाएंगी या नहीं? राजस्थान में पिछले दिनों गोकशी के नाम पर लिंचिंग की कुछ वारदातें हुईं लेकिन वसुंधरा राजे का कहना है कि ऐसे मामलों को धर्म या नफ़रत की बजाय एक आम अपराध की तरह देखना चाहिए, अपराधियों को सज़ा मिलनी चाहिए.

वसुंधरा राजे से जब पूछा गया एक महिला मुख्यमंत्री के नाते आपकी पार्टी के लिए, आपकी लीडरशिप के लिए क्या यह कठिन समय है. आप किस तरह से इस स्थिति का सामना कर रही हैं? वसुंधरा राजे ने कहा कि इसमें जेंडर का कोई मामला नहीं है. यदि हम तय कर लेते हैं कि चलना है तो हम आंख बंद करके चलते जाते हैं. फिर सवाल नहीं होता कि आपको महिला के रूप में रुफ्यूज किया जाएगा या स्वीकार किया जाएगा. चुनाव को कुछ ही दिन बाकी हैं. किस तरह के हालात हैं? इस प्रश्न पर वसुंधरा राजे ने कहा कि मैं सकारात्मक हूं. नौ माह से हमने काफी व्यवस्थित ठंग से काम किया है. पार्टी के सभी लोग चुनाव में जुटे हैं. सात तारीख को चुनाव के साथ यह खत्म होगा. उन्होंने कहा कि हम खुश हैं. जनता का जो सामान्य मूड है, ठीक है. हम अपने तय कार्यक्रम के हिसाब से आगे जाएंगे.