मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए मतदान के बाद शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को EVM को लेकर कांग्रेस की ओर से मचाए जा रहे शोर पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें अपनी हार दिख रही है इसीलिए अभी से मशीन के खिलाफ गड़बड़ी का अभियान छेड़ दिया है.

शिवराज ने कहा कि कांग्रेस मतदान के दिन से अनर्गल प्रलाप कर रही है. चुनाव के दिन 3 बजे ही चुनाव आयोग को चिट्ठी लिख कर EVM में गड़बड़ी का एक अभियान छेड़ दिया जबकि चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर संदेह नहीं होना चाहिए.

उन्होंने आरोप लगाया कि अपनी हार का ठीकरा चुनाव आयोग पर फोड़ने के मकसद से कांग्रेस EVM पर अंगुली उठा रही है. शिवराज ने आगे कहा कि कांग्रेस की नजर में चुनाव आयोग बेईमान है, अधिकारी बेईमान हैं, पुलिस बेईमान है. कांग्रेस ने चुनाव को मजाक बना रखा है.

चुनाव के बाद पहली बार प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए शिवराज ने कहा कि कांग्रेस को अपनी जीत का विश्वास ही नहीं है और इसलिए हार की भूमिका तैयार कर रही है जबकि दूसरी ओर से प्रशासन को दबाव में लाने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने सबसे ज्यादा सख्ती बीजेपी के साथ की. यहां तक कि मुझे एक मित्र के अंतिम संस्कार में भी नहीं जाने दिया गया, लेकिन मैंने इसकी कोई शिकायत नहीं की.

विवाद के बीच कैबिनेट की बैठक

आचार संहिता में कैबिनेट बैठक पर उठ रहे सवालों के बीच भोपाल में कैबिनेट की बैठक पूरी हो गई. हालांकि इसमें कोई नया फैसला नहीं लिया गया बल्कि पुराने मामलों का ही समर्थन किया गया.

कैबिनेट बैठक के बाद शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि कांग्रेस इस पर भले ही हंगामा कर रही है, लेकिन आज कोई समस्या आती है तो सरकार जिम्मेदार होगी. इसीलिए हमने बैठक की जिसमें अधिकरियों को बुलाया और वर्तमान स्थिति की समीक्षा की गई.

Leave comment