Lok Shakti

Nationalism Always Empower People

झीरम घाटी मामला- NIA को केस वापस लेने लिखा पत्र, जवाब आने के बाद ही बनेगी SIT: भूपेश बघेल

Default Featured Image

विधानसभा अध्यक्ष के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री चरणदास महंत के नामांकन के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि प्रोटेम स्पीकर के रूप में रामपुकार का शपथ कराया गया और आज ही महंत का नामांकन हुआ है। विपक्ष की ओर से डॉ रमन सिंह और धर्मजीत सिंह का प्रस्ताव आया है। यह संसदीय परंपरा के अनुरूप है। उन्होंने कहा कि मैं सभी दल को धन्यवाद देता हूं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम विपक्ष के सुझावों को सकारात्मक रूप से लेंगे, जनता ने जनादेश दिया है। कल सभी विधायकों का शपथ होगा, फिर अध्यक्ष का चुनाव होगा, फिर आगे अनुपूरक बजट आएगा। उन्होंने कहा कि बीजेपी हमारे लिए शोर मचा रही थी, खुद वो तो सदमे में हैं, अब तक नेता प्रतिपक्ष नहीं चुन पाए हैं।

सीएम बघेल ने कहा कि नक्सल मुद्दा बंदूक से समस्या का हल नहीं हो सकता। जो लोग वहां निवास करते हैं, उन सभी पक्षों से बात करेंगे। अलग-अलग समस्या का हल अलग होता है। हम प्रभावित और पीड़ित से बात करेंगे। जरूरत पड़ी तो सबको एक साथ बिठाकर बात करेंगे। नेताओं से बात कर आगे क्या करना है ये तय करेंगे।

उन्होंने कहा, अमित शाह ने कहा था 65 प्लस, यह हम पर लागू हो गया। रमन ने कहा छक्का मारूंगा, यह भी हम पर लागू हो गया। जो-जो वो कहते रहे, वह हम पर लागू हो गया। उन्होंने कहा कि नक्सल मामले में सरकार NIA की ओर से दायर केस वापस लेगी। जीरम SIT के मामले में NIA को हमने पत्र भेज दिया है कि हम वो केस वापस लेना चाहते हैं। उनकी सहमति आ जाए फिर SIT कार्रवाई करेगी।

वहीं इस बीच डीजीपी डीएम अवस्थी ने कहा है कि NIA से केस मिलने के बाद SIT जांच शुरु करेगी। एसआईटी जीरम घटना के सभी पहलुओं की जांच करेगी। जबकि नान घोटाले की जांच के लिए जल्द एसआईटी बनेगी। ACB IG एसआरपी कल्लूरी की नियुक्ति हो गई है, जल्द SIT का गठन हो जाएगा पुलिस जवानों के साप्ताहिक अवकाश पर उन्होंने कहा कि इस बारे में रिपोर्ट सरकार को जल्द सौंपी जाएगी।