6 March 2019

मारा गया एयरस्ट्राईक में मसूद अजहर? यदि जिंदा है तब भी नहीं बचा पाएगा पाकिस्तान

इस संपादकीय में चर्चा की गई है कि किस प्रकार से पाकिस्तान को भारी पड़ा पुलवामा हमला।

इसके अलावा यह भी चर्चा की गई है कि पीएम मोदी ने कांग्रेस के आतंकवाद के पोषक अंतर्राष्ट्रीय महामिलावटी गठबंधन पर किस प्रकार से प्रहार किया है।

भारतीय वायुसेना की बालाकोट में की गई एयरस्ट्राईक में मसूद अजहर मारा गया यह समाचार भी भी समाचार पत्रों में छाया रहा। यदि जिंदा है तब भी नहीं बचा पाएगा पाकिस्तान।

पुलवामा में आतंकी हमले के बाद कुख्यात आतंकी और जैशमोहम्मद आतंकवादी संगठन के प्रमुख मसूद अजहर पर शिकंजा कसता ही जा रहा है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सोमवार को संकेत दिया कि मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में वैश्विक आतंकवादी घोषित कराने के फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका के संयुक्त कदम का पाकिस्तान विरोध नहीं करेगा।

इसी बीच रविवार को यह अफवाह फैली कि जैश के मुखिया मसूद अजहर की मौत हो चुकी है, लेकिन कुछ घंटों बाद पाकिस्तानी मीडिया में खबर आई कि मसूद अजहर जिंदा है।

अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कराने के लिए पिछले सप्ताह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में नए सिरे से प्रस्ताव रखा था। सुरक्षा परिषद की प्रतिबंध निर्धारण समिति को तीनों सदस्य राष्ट्रों के नये प्रस्ताव पर 10 कार्यदिवस के अंदर विचार करना है।

उल्लेखनीय है कि पुलवामा आतंकी हमले के महज 12 दिन बाद भारत ने एयर स्ट्राइक के जरिए पीओके और बालाकोट में आतंकियों के ठिकानों को तबाह कर दिया। इस हमले की खास बात यह थी कि इसने बालाकोट में जैश के सबसे बड़े ठिकाने को तबाह कर आतंकी संगठन की कमर तोड़ दी। इस हमले में जैश सरगना मसूद अजहर के दो भाई और उसका साला मारा गया था।

बालाकोट में पाक सैनिकों ने छात्रों को जैश के मदरसे से बाहर निकाला:

मसूद अजहर ही नहीं पाकिस्तान के समूचे आतंकवाद के खिलाफ भारत ने खोला मोर्चा

भारत ने आतंकी संगठन जैशमोहम्मद के प्रमुख मौलाना मसूद अजहर ही नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान के समूचे आतंकवाद के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उच्चपदस्थ सूत्र बताते हैं कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की मांग है कि पाकिस्तान की जमीन से किसी भी देश के खिलाफ चलने वाली आतंकी गतिविधियों पर रोक लगने की दिशा में ठोस कार्रवाई होनी चाहिए।

सूत्र का कहना है कि भारत आतंकवाद के खिलाफ अकेले अपनी लड़ाई लडऩे के लिए तैयार है और यदि सीमा पार से आतंकी हमला हुआ तो भारत के सभी विकल्प हैं। भारत फिर सीमापार की कार्रवाई को अंजाम दे सकता है।

इससे स्पष्ट है मारा गया एयरस्ट्राईक में मसूद अजहर? यदि जिंदा है तब भी नहीं बचा पाएगा पाकिस्तान।

आज मध्यप्रदेश के धार में अपने भाषण में पीएम मोदी ने इस अंतर्राष्ट्रीय महामिलावटी गठबध्ंान का पर्दाफाश किया है।

प्रधानमंत्री ने अपने पहले केमहामिलावटÓ हमले के आधार पर हो रहे वंशवादी विपक्षी पार्टियों  के महागठबंधन का आज मध्यप्रदेश के धार की संकल्प रैली में विस्तार करते हुए कांगेस के अंतर्राष्ट्रीय महामिलावट पर प्रकाश डालते ुहए कहा कि कैसे विपक्ष द्वारा दिए जा रहे बयान से पाकिस्तान में सुर्खियां बन रहे हैं और पाकिस्तानी द्वारा सराहना की जा रही है इन नेताओं की। इसका उल्लेख विस्तार से इस संपादकीय के नीचे किया गया है।

प्रधानमंत्री मोदी जी ने अपने भाषण में उल्लेख किया है : कांग्रेसी महामिलावटी गठबंधन यहां मोदी पर स्ट्राईक करते हैं और मोदी आतंक पर स्ट्राईक करता है।

यहॉ यह उल्लेखनीय है कि पीएम मोदी के विरूद्ध कांग्रेस सिर्फ मोदी हटाओ मुहिम के आधार पर महागठबंधन बनाने का प्रयास किया है उसका विस्तार उसका विस्तार कांग्रेस अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कर रही हैं।

डोकलाम विवाद के समय राहुल गांधी की चाईना के एम्बेस्डर से दो बार मुलाकात और कथित कैलाश मानसरोवर की धार्मिक यात्रा के समय चीन के मंत्रियों से गुपचुप मुलाकात इसके  उदाहरण है।

कांग्रेस के मणिशंकर अय्यर और नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान जाकर मोदी हटाओ मुहिम का विस्तार करना भी इसका उदाहरण है।

पीएम मोदी ने कांग्रेस के आतंकवाद के पोषक अंतर्राष्ट्रीय महामिलावटी गठबंधन पर किस प्रकार से प्रहार किया है उसका स्वागत किया जाना चाहिये।

Leave comment