Lok Shakti

Nationalism Always Empower People

जलपाईगुड़ी में PM नरेंद्र मोदी बोले- तीन तलाक कानून को नहीं हटाने दिया जाएगा

Default Featured Image

ममता बनर्जी के गढ़ बंगाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार तृणमूल सरकार पर निशाना साधा. जलपाईगुड़ी में कई परियोजनाओं की आधारशिला रखने के बाद रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि यहां से मेरा पुराना संबंध है. आप चाय उगाने वाले है और मै चाय बनाने वाला, लेकिन चायवालों से दीदी को इतनी चिढ़ क्यों है. हम गरीब को लूटने वाले, देश की सेना को धोखा देने वाले राज़दारों को विदेशों से उठाकर ला रहे हैं और ये उनको बचाने के लिए पूरी ताकत लगा रहे हैं.

उन्होंने कहा कि आज वो पूरी तरह से मोदी से त्रस्त है, तो पूरी तरह से भ्रष्ट है. दलालों की सोच, महान मिलावट की सोच को मोदी की कभी सफल नहीं होने देगा. इस महामिलावट का अपना कोई विजन नहीं हैं, देश को लेकर अपनी कोई नीति नहीं है. मैं चिटफंड घोटाले के एक-एक पीड़ित को विश्वास दिलाता हूं कि आपको इस स्थिति में पहुंचाने वालों को कानून के दरवाजे तक पहुंचाया जायेगा. आखिर ममता दीदी चिटफंड घोटाले की जांच से आप इतना क्यों डरी हुई हैं? क्यों जिन लोगों पर जांच में लापरवाही बरतने का आऱोप है, उनके लिए धरना दे रही हैं ?

तीन तलाक के कानून को नहीं हटाने दिया जाएगा

उन्होंने कहा कि महिला अधिकारों पर झूठ बोलने वाली कांग्रेस ने अपनी असली सच्चाई भी देश के सामने रख दी है. तुष्टिकरण के लिए कांग्रेस किस हद तक जा सकती है, ये भी उसने कल फिर बता दिया है. कांग्रेस ने अब खुलकर कह दिया है कि वो तीन तलाक पर बन रहे कानून का विरोध करती है. राजीव गांधी के समय, शाह बानो केस में कांग्रेस ने जो गलती की थी, अब वही गुनाह उसने कर दिया है.

वो भूल गई है कि तीन तलाक से पीड़ित मुस्लिम महिलाओं को कितने बुरे दौर से गुजरना होता है, कितने संकटों से गुजरना होता है, लेकिन तुष्टिकरण के लिए किसी भी हद से गुजरने वाली कांग्रेस ने, न सिर्फ तीन तलाक कानून को संसद में रोका, बल्कि उसे अब खत्म करने की भी बात करने लगी है. मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि तीन तलाक के कानून को नहीं हटाने दिया जाएगा.

जगाई-मधाई चला रहे हैं पश्चिम बंगाल में सरकार

पीएम मोदी ने कहा कि टीएमसी सरकार की तमाम योजनाओं के नाम पर बिचौलियों का अधिकार है. दीदी, दिल्ली जाने के लिए परेशान हैं और बंगाल के गरीब और मध्यम वर्ग को सिंडिकेट के गठबंधन से लुटने के लिए छोड़ दिया है. आज स्थिति ये है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री तो दीदी हैं, लेकिन दादागिरी किसी और की चल रही है, शासन TMC के ‘जगाई-मधाई’ चला रहे हैं.

खून-खराबे का पॉलिटिकल कल्चर

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में मां, माटी, मानुष के नाम पर जिनको आपने सत्ता दी, जिनको कम्यूनिस्टों के कुशासन से मुक्ति दिलाने का जिम्मा दिया, उन्होंने वही खून-खराबे का पॉलिटिकल कल्चर अपना बना लिया है. जगाई-मधाई का ये गठजोड़ टूटना चाहिए कि नहीं ? पश्चिम बंगाल में हिंसा का दौर जो दशकों से चल रहा है, वो खत्म होना चाहिए या नहीं? बंगाल के युवाओं को खून-खराबे से आज़ादी मिलनी चाहिए या नहीं?

बंगाल में पीएम मोदी की यह तीसरी रैली

ममता बनर्जी के गढ़ बंगाल में प्रधानमंत्री मोदी की एक हफ्ते में यह तीसरी रैली है. मोदी शुक्रवार दोपहर रायगढ़ के कोड़ातरई में जनसभा को संबोधित किया. इस जनसभा में उन्होंने राज्य की नई कांग्रेस सरकार के साथ-साथ कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व पर भी जमकर वार किया.