17 April 2019

क्या भविष्य में अजहर मसूद मुशर्रफ करेंगे विपक्ष का चुनाव प्रचार?

पश्चिम बंगाल में टीएमसी के एक उम्मीदवार के चुनाव प्रचार में बांग्लादेशी एक्टर के शामिल होने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. इस पर केंद्र ने रिपोर्ट तलब किया है. दूसरी तरफ गृह मंत्रालय ने बांग्लादेशी एक्टर का बिजनेस वीजा रद्द कर दिया है और साथ ही उसे देश छोडऩे का आदेश जारी किया है और इधर बांग्लादेशी एक्टर फिरदौस अहमद द्वारा किए गए वीजा उल्लंघनों के बारे में ब्यूरो ऑफ़ इमिग्रेशन से एक रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद, गृहमंत्रालय ने उसका व्यापारिक वीज़ा रद्द कर दिया है. मंत्रालय ने उसे भारत छोडऩे का नोटिस जारी किया है और उसे ब्लैकलिस्ट कर दिया है. गृह मंत्रालय ने स्नक्रक्रह्र कोलकाता को इन आदेशों का पालन सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया गया है.

> यदि उक्त गैर कानूनी बंगलादेशी घुसपैठिये अभिनेता के चुनाव प्रचार को कानून संगत अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता समझा जायेगा तो निकट भविष्य में टीएमसी ही नहीं अन्य विपक्षी पार्टियंा यहॉ तक की कांग्रेस भी  पाकिस्तान और चीन से भारत विरोधी तत्वों जैसे अजहर मसूद, मुशर्रफ, खालिस्तानी गोपाल चावला आदि को भी चुनाव प्रचार के लिये आमंत्रित कर सकती है।

>> यहॉ यह स्मरण दिलाना आवश्यक है  कि गुजरात विधानसभा चुनाव के समय मणिशंकर अय्य़र के निवास स्थान पर रात के अंधेरे में एक गुप्त बैठक रात्रि भोज के रूप में आयोजित की गई थी, जिसमें पाकिस्तान के पूर्व विदेशमंत्री कसूरी और पाकिस्तान के राजदूत का स्वागत कर रहे थे मनमोहन सिंह     हामिद अंसारी।

>> मणिशंकर अय्यर पाकिस्तान में वहॉ के एक टीवी को साक्षात्कार देते हुए दिया था और कहा था कि मोदी सरकार को हटाने के लिये पाकिस्तान की सहायता चाहिये। तब एंकर ने पूछा था कि क्या आईएसआई की

>> आज ही इमरान खान के यार पाक आर्मी चीफ बाजवा को आलिंगन करने वाले  कांग्रेस के स्टार प्रचारक नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा है कि यहॉ  कटिहार में मुस्लिम बहुसंख्यक हैं और हिन्दू अल्पसंख्यक। अतएव मुस्लिमों को एकजूट होकर कांग्रेस को वोट देना चाहिये, मुस्लिमों के वोट बंटने देकर छक्का लगाकर मोदी को बाउंंड्री से बाहर फेंक देना चाहिये।

कोई आश्चर्य नहीं कि चुनाव जीतने के लिये मोदी सरकार को हटाने के लिये सिद्धू जैसे लोग भारत में चुनाव प्रचार करने के लिये इमरान, बाजवा को भी बुला लें।

Leave comment